भारत के 5 सबसे बड़े चोर बाजार

हम सबको बड़े ब्रांड्स वाली चीज़ें खरीदना पसंद है पर बड़े ब्रांडस के दाम भी बहुत ज़्यादा होते हैं और उन्हें खरीदना हर किसी के लिए आसान नहीं होता। वहीँ अगर ये चीज़ें सस्ती कीमतों पर मिल जाएँ तो सब इन्हे खरीदना चाहेंगे। हमारे देश के कई कोनों में कई बड़े चोर बाजार चलाये जाते हैं जहाँ कपड़ों से लेकर कई कीमती चीज़ें बहुत सस्ते दाम पर मिल जाती हैं।

मुंबई का चोर बाजार (Chor bazaar, mumbai)

ये बाजार दक्षिण मुंबई के मटन स्ट्रीट मुहम्मद अली रोड के पास लगता है। कहा जाता है की मुंबई का ये चोर बाजार लगभग 150 साल पुराना है। चोर बाजार होने के बाद भी यह अन्य बाज़ारों की तरह सुबह 11 बजे से शाम के 7 बजे तक नियमित रूप से खुलता है। पहले के समय में लोग इस बाजार में तेज़ आवाज़ लगाकर लोगों को बुलाया करते थे इसलिए इसे शोर बाजार कहा जाता था। अंग्रेज़ों ने इसपर रोक लगा दी थी और इसका नाम चोर बाजार रख दिया गया। Queen Victoria जब मुंबई यात्रा करने आयी थी और उनका सामान शिप में रखा जा रहा था तब वो सामान चोरी हो गया था जो बाद में इस बाजार में मिला।

दिल्ली का चोर बाजार (Chor bazaar, Delhi)

देश की राजधानी दिल्ली का चोर बाजार भारत का सबसे पुराना और सबसे बड़ा चोर बाजार माना जाता है। पहले के समय में ये चोर बाजार लाल किले के पीछे लगाया जाता था और उस समय इसका नाम संडे मार्किट (Sunday market) था लेकिन वर्त्तमान में चोर बाजार दरयागंज में जामा मस्जिद के पास लगाया जाता है। दिल्ली का चोर बाजार काफी प्रसिद्द है और यहाँ काम आने वाली हर बड़ी छोटी ज़रुरत की चीज़ किफायती दामों में मिल जाती है। इसी लिए इसे कबाड़ी बाजार भी बोला जाता है। यह भी एक घटना के लिए प्रसिद्द है। एक बार एक आदमी अपनी गाडी बाहर पार्क करके गया और अंदर जा के उसको पता चला की जिस गाडी के parts के लिए वो मोल भाव कर रहा था वो दरअसल उसी की गाडी के पुर्ज़े थे जो चोरों ने उसके पार्क करते ही निकल लिए थे।

मेरठ का चोर बाजार (Chor bazaar, Meerut)

कहा जाता है की मेरठ का ये मार्किट एशिया का सबसे बड़ा स्वैप मार्किट है। मेरठ का ये बाजार प्रतिदिन सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक खोला जाता है। कहा जाता है यहाँ हर तरह की चोरी की गाड़ियां और spare parts उपलब्ध हो जाते हैं। यहाँ आपको सभी तरह की गाड़ियों के स्पेयर पार्ट्स इसलिए मिल जाते हैं क्योंकि यहाँ काफी बड़ी संख्या में चोरी की गाड़ियां, पुराणी गाड़ियां और एक्सीडेंट हुई गाड़ियां आती हैं। जिनके पार्ट्स यहाँ सस्ती कीमतों पर बेचे जाते हैं। यहाँ आपको पुरानी से पुरानी गाडी के पार्ट्स मिल जायेंगे। यह बहुत ही बड़ा मार्किट है इसी कारण इसे चोरी की गाडियों का गढ़ माना जाता है।

बंगलुरु का चोर बाजार (Chor bazaar, Banglore)

ये चोर बाजार chikpet मेट्रो स्टेशन के पास BVK Iyengar रोड पर लगाया जाता है। यह चोर बाजार सिर्फ रविवार को ही लगता है और इसे संडे मार्किट भी कहा जाता है। वैसे ये चोर बाजार बाकियों के मुकाबले काम प्रसिद्द है लेकिन फिर भी यहाँ चोरी का और सेकंड हैंड सामान बहुत अच्छी कीमतों पर मिल जाता है।

सेंट्रल चेन्नई का चोर बाजार (Chor bazaar, Central Chennai)

ये चोर बाजार भी काफी प्रसिद्द है। यह सेंट्रल चेन्नई के ऑटो नगर में लगता है जहाँ चोरी की गाड़ियों को modify करके उन्हें बिलकुल नया और शानदार लुक दिया जाता है। यहाँ के mechanic गाड़ियों को मॉडिफाई करने में बेहद माहिर है। यहाँ आपको लगभग सभी गाड़ियों के स्पेयर पार्ट्स, मॉडिफाई करने का सामान और मॉडिफाई की हुई गाड़ियां मिल जाएँगी। ये बाजार पुरानी गाड़ियों को मॉडिफाई करके नया लुक देने का गढ़ माना जाता है। यहाँ कई बार पुलिस ने रेड मारी है लेकिन फिर भी यह मार्किट सक्रिय है और रोज़ सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक खोला जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *