विश्व दुनिया के सात (7) अजूबे के नाम

दुनिया में कई चीज़ें ऐसी बनाई गयी जिनके जैसा कुछ दोबारा अभी तक कहीं नहीं देखा गया। लगभग दो हज़ार वर्ष से भी ज़्यादा पहले दुनिया में पहली बार सात अजूबे आये थे। आज उनमे से लगभग लगभग सब नष्ट हो चुके हैं एक के अलावा। इक्कीसवी सदी के अजूबों में केवल एक ही है जो उस समय से है। ये हैं इक्कीसवी सदी के सात अजूबे।

1 – मसीह उद्धारक (Christ The Redeemer)
यह ब्राज़ील के रिओ दे जेनेरिओ में स्थापित एक ऐसी प्रतिमा है जिसे दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा आर्ट डेको स्टेचू माना जाता है। यह प्रतिमा अपने पांच मीटर यानी 31 फ़ीट आधार सहित 38 मीटर यानी 125 फ़ीट लम्बी और 30 मीटर यानि 98 फुट चौड़ी है। इसका वज़न 635 टन है यह तिजूका नेशनल फारेस्ट में corcovado पर्वत की छोटी पर स्तिथ है जो 700 मीटर यानी 2300 ऊँचा है और यहाँ से पूरा शहर दिखाई देता है। यह दुनिया में अपनी तरह की सबसे ऊँची मूर्तियों में से एक है।

2 – ताजमहल (Taj Mahal)
यह भारत के आगरा शहर में स्तिथ एक विश्व धरोहर मकबरा है। इसका निर्माण मुग़ल सम्राट शाह जहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में करवाया था। ताज महल मुग़ल वास्तुकला का एक उत्कृष्ट नमूना है। इसकी वास्तु शैली फ़ारसी, तुर्की, भारतीय और इस्लामी वास्तुकला का एक अनोखा सम्मलेन है। सं 1983 में ताज महल UNESCO का विश्व धरोहर स्थल बना। ताज महल को भारत की इस्लामी कला का रत्न भी घोषित किया गया।

3 – चीन की महान दीवार ( Great Wall Of China)
मिट्टी और पत्थर से बनी ये किलेनुमा दीवार है जिसे चीन के विभिन्न शासकों के द्वारा उत्तरी हमलावरों से रक्षा के लिए पांचवी शताब्दी पूर्व से लेकर सोलहवीं शताब्दी तक बनवाया गया। इसकी विशालता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है की मानव निर्मित ढाँचे को अंतरिक्ष से भी देखा जा सकता है। यह दीवार 6400 किलोमीटर लम्बी है हालाँकि पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के हल के सर्वेक्षण के अनुसार ये दीवार अपनी सभी शाखाओं सहित लगभग 8800 किलोमीटर तक फैली है।

4 – मछु पिच्चु ( Machu Picchu )
दक्षिणी अमेरीकी देश पेरू में स्तिथ इन्का सभ्यता से सम्भंदित ऐतिहासिक स्थल है। यह समुद्र ताल से 2430 मीटर की ऊंचाई पर उरुबाम्बा घाटी जिसमे से उरुबाम्बा नदी बहती है उसके उपर पहाड़ पर स्तिथ है। यह कस्को से 80 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में स्तिथ है। इससे अक्सर इंकाओं का खोया शहर भी कहा जाता है।

5 – पेट्रा (Petra )
जॉर्डन के मानप्रांत में स्टिच एक ऐसेहातिक नगरी है पेट्रा जो अपने पत्थर से तराशी गयी इमारतों के लिए प्रसिद्द है। इसे छथि शताब्दी पूर्व में नबातिओं ने अपनी राजधानी के तौर पर स्तापित किया था। माना जाता है की इसका निर्माण लगभग 3000 वर्ष पहले किया गया था। यह एक मशहूर पर्यटक स्थल है और पहाड़ों से घिरी हुई एक द्रोणी में स्तिथ है।

6 – चिचेन इट्ज़ा (Chichen Itza )
कोलोम्बोस पूर्व युग में माया सभ्यता द्वारा बनाया गया एक बड़ा शहर था ।चिचेन इट्ज़ा उत्तर शास्त्रीय से होते हुए अंतिम शास्त्रीय में और आरंभिक उत्तर शास्त्रीय काल के आरंभिक भाग में उत्तरी माया की तराई में एक प्रमुख केंद्र था। यह स्तहल वास्तुशैलियों के विविध रूपों का प्रदर्शन करता है।

7 – कालीज़ीयम (Colosseum )
इटली देश के रोम नगर के मध्य निर्मित रोमन साम्राज्य का सबसे विशाल ओवल एम्फीथियेटर है। यह रोमा स्थापत्य का सर्वोपरिष्त नमूना माना जाता है। इसका निर्माण तत्कालीन शासक वेस्पेसियन ने 70 -72 एसवी सदी के मध्य प्रारम्भ किया और इसका निर्माण 80 एसवी में सम्राट टाइटस द्वारा पूरा हुआ। बाद में इसमें कुछ और परिवर्तन भी कर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *