अपने लिए सही जीवनसाथी कैसे चुने?

जब आप अपने लिए एक जीवनसाथी चुनने लगते हैं तो उसमे सिर्फ आपकी नहीं आपके आस पास के लोगों के पास भी अपनी अपनी राय होती है। किसी कुछ सही लगता है तो किसी को कुछ और।

तो सवाल ये है की सही व्यक्ति कौन है?

दरअसल इस धरती पर कोई भी व्यक्ति सही नहीं है। अगर आप किसी चीज़ में पूरा दिल लगा दें तो वो चीज़ बढ़िया ज़रूर हो सकती है। पर वैसे कोई भी perfect नहीं है। किसी को कभी कोई सही व्यक्ति नहीं पाया है और अगर आप इस तरह की अवास्तविक मानसिकता में पड़ते हैं की आपने सही व्यक्ति पा लिया है तो आप जल्दी ही निराश होने वाले हैं। पहली चीज़ है ये देखना की क्या आप सही व्यक्ति हैं।

हमें समझना चाहिए की रिश्ते अलग अलग ज़रूरतों के लिए बनाये जाते हैं। शारारिक ज़रूरतें होती है, मानसिक ज़रूरतें होती है, भावनात्मक ज़रूरतें, सामाजिक एवं आर्थिक ज़रूरतें भीहोती है। जब आप इतनी सारी ज़रूरतों के साथ किसी के पास जाते है तो आपके पास ज़्यादा option नहीं रहती। आप चुन नहीं सकते। अगर आप वास्तव में चुनाव करना चाहते हैं तो सबसे पहले खुद को बेहतर बनायें। अगर आप अद्भुत हैं तो चीज़ें आपके लिए आसान होंगी। करियर, शादी, रिश्तों के मामले में आपके साथ सब बेहतर होगा। किसी और पर मेहनत करने की बजाये खुद पर मेहनत करें फिर हर कोई आपके साथ होना चाहेगा।

शरीर को साथी की ज़रुरत होती है, मानसिक और भावनात्मक स्तर पर भी मगर आत्मा को साथी की ज़रुरत नहीं है। जब आप अपने लिए जीवनसाथी का चयन करते हैं तो आप अपने आस पास के लोगों की नहीं केवल अपने मन की आवाज़ को सुने। जब हम किसी व्यक्ति के साथ आत्मिक सम्बन्ध बनाते हैं तो उसके गुण और अवगुण, दोनों को अपना लेते है। वह व्यक्ति जैसा भी है उसके गुण और दोषों से हमे कोई फरक नहीं पड़ता क्यूंकि आत्मिक सम्बन्ध सामाजिक संबंधों से बहुत ऊपर हैं।
एक दूजे के लिए जैसा कुछ नहीं होता। हम वास्तव में हमेशा खुद से विपरीत चुनते हैं पर कुछ समय बाद हम यह उम्मीद करने लगते हैं की वे हमारी तरह हो जाएँ पर यह गलत है क्यूंकि अगर कोई बिलकुल आपके जैसा हो जायेगा तो आप उन्हें नहीं झेल पाएंगे। समानता की तलाश मत कीजिये। फर्क होना अच्छा है और ज़रूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *