खाना खाते समय बातो का ख्याल रखे

कहा जाता है की एक संतुलित और सही नियम के अनुसार भोजन करने वाला व्यक्ति उम्रभर निरोगी और स्वस्थ बना रहता है। अलग अलग खाने वाली चीज़ों से हमारे शरीर को अलग अलग प्रकार के पोषक तत्त्व प्राप्त होते हैं और हर ये वास्तु हमारे शरीर पर उसकी प्रकृति के अनुसार प्रभाव डालती है। दो ऐसी चीज़ें जिनका स्वाभाव या प्रकृति एक दूसरे से विपरीत हो अगर उन्हें एक के बाद एक या एक साथ खा लिया जाए तो हमे कई गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। आयुर्वेद में इन चीज़ों को विरुद्ध आहार या Incompatible food कहा जाता है।

कई बीमारी आपके गलत खाना खाने से होती है

चाय के साथ बिस्कुट या ब्रेड खाना, दूध के साथ केले और सलाद में टमाटर और खीरे का एक साथ सेवन करना आम है पर यह भी विरुद्ध आहार की श्रेणी में ही आती हैं। हमारे शरीर में छोटी से छोटी समस्या जैसे बालों का झड़ना या त्वचा का ख़राब होना, दिन भर थकान या आलस आना और पेट का ख़राब हो जाना जैसी चीज़ें इसी वजह से हो रही हैं। हमारे शरीर को सेहत बनाने वाली चीज़ें जैसे दूध, घी, अंडा, पालक, करेले और बादाम और कई तरह के फल भी हमारे लिए घातक हो सकते हैं अगर उन्हें ऐसी चीज़ों के साथ खा लिया जाये जिनसे उनका मेल न बनता हो। अगर बहुत कोशिश के बाद भी आपका वज़न बढ़ न रहा हो या काम न हो रहा हो, अगर किसी तरह की बीमारी से आप लम्बे समय से जूझ रहे हो तो हो सकता है तो हो सकता है आप खाये जाने वाली चीज़ों को गलत समय पर या गलत चीज़ों के साथ खा रहे हैं।

एसिडिटी, गैस, अपचन, बालों का झड़ना, त्वचा पर एलर्जी, मस्से या सफ़ेद दाग होना, सरदी, ज़ुखाम, सर दर्द, जोड़ों में दर्द और गले में खराश, फेफड़े और किडनी में कमज़ोरी, डायबिटीज तथा दिल और शरीर के दूसरे अंगों से जुडी कई गंभीर बीमारियां केवल विरुद्ध आहार की वजह से हो सकती हैं। ये हैं कुछ चीज़ें जो इस श्रेणी में आती हैं।

दूध और दूध से बानी हुई चीज़ें के साथ यह न खाये

– दूध और दूध से बानी हुई चीज़ें। दूध एक एनिमल प्रोटीन है जो की हमे जानवरों से प्राप्त होता है। ऐसी सब चीज़ें जाइए की अंडा, मॉस और दूध का सेवन करते हुए हमे सावधानी बरतनी चाहिए। ये सब चीज़ें वैसे तो सेहतमंद हैं पर इनका combination बहुत कम चीज़ों के साथ होता है। दूध को कभी प्याज, केले, नमकीन, खट्टे फल जैसे निम्बू, संतरा, पाइनएप्पल, दही, मूली, मास मछली या बैंगन आदि के साथ या बाद में या पहले नहीं लेना चाहिए। अच्छी सेहत बनाने के लिए दूध और केले को साथ में लेने की सलाह दी जाती है लेकिन ये दोनों चीज़ें साथ में मिलकर एक दुसरे को पचने से रोकती है। इनका पचने का समय अलग होता है तो लगातार इनका सेवन करने से हमारे शरीर की पचने की प्रक्रिया बदलने लगती है और साथ नींद न आने की समस्या भी होती है। ये साडी चीज़ें दूध के साथ खाने पर हुमारे शरीर पर उल्टा असर डालती है और शरीर में खाने वाली चीज़ों से पोषक तत्त्व निकलने की क्षमता पर उल्टा प्रभाव डालता है।

दही के साथ यह सब नहीं खाना चाहिए

दही के साथ केला, मास मछली, टमाटर और उरद की दाल का सेवन नहीं करना चाहिए। दही को कभी ज़्यादा तेज़ आंच पर न पकाएं। दही की साथ ज़्यादातर फलों का मेल नहीं जमता और ठंडा होने की वजह से उसमे फलों को डालकर खाने से यह शरीर में cough बनाता है जो हमारे फेफड़ों में जमता है और शरीर की नसों में भी blockage करता है। उरद की दाल और दही साथ खाने से यह हमारे ब्लड प्रेशर को तेज़ी से बढ़ा देता है इसलिए जिन लोगों को high blood pressure जैसी समस्या है उन्हें दही वड़े जैसी चीज़ों का सेवन नहीं करना चाहिए। आयुर्वेद की अनुसार रात के समय दही का सेवन नहीं करना चाहिए क्यूंकि रात को दही खाने से हमारे भोजन पचने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है जिससे पेट से सम्भंदित बिमारियों की सम्भावना बढ़ जाती है।

इन चीज़ों का सेवन करने से शरीर का पानी सूखता है

बियर, कोल्ड ड्रिंक, सोडा और शराब आदि के साथ नमकीन चीज़ें जैसे मूंगफली आदि का सेवन करना बहुत आम है। पानी और चाय के बाद बियर दुनिया में पि जाने वाली चीज़ है। ज़्यादातर लोगन को यह पता होता है की इन चीज़ों का सेवन करने से हमारे शरीर का पानी सूखता है और हमे dehydration हो जाती है। ऐसे में इसके साथ नमकीन चीज़ों का सेवन करने से शरीर में sodium की मात्रा दुगनी रफ़्तार से बढ़ती है। इससे शरीर में मौजूद पानी तेज़ी से ख़तम होने लगता है। पानी की कमी की वजह से घबराहट, चक्कर आना, पेट ख़राब और food poisoning होने के chances बढ़ जाते हैं। साथ ही लगातार ऐसा करने से पेट की चर्बी और तोंद बहार निकलने लगती है।

इसके अलावा घी का सेवन करते हुए भी थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए। घी को कभी भी ताम्बे के बर्तन में न रखें क्यूंकि घी का ताम्बे से मेल होने पर वो पूरी तरह ख़राब हो जाता है। इसी तरह घी और शहद को साथ में मिला दिया जाए तो उसकी तुलना ज़हर के बराबर की गयी है। और इसका सेवन करने से काफी हानिकारक परिणाम हो सकता हैं।

सलाद में खाये जाने वाली कई साधारण चीज़ें भी गलत समय या गलत चीज़ों के साथ खाने पर हानिकारक हो सकती हैं। खीरा और टमाटर दोनों सलाद में खाये जाने वाली सबसे प्रचलित चीज़ें हैं इसलिए घर से लेकर होटल और शादियों में भी इन्हे साथ में दिया जाता है लेकिन हल ही में की गयी एक रिसर्च के मुताबिक ये दोनों चीज़ों में पाए जाने वाले तत्त्व एक दूसरे के विरुद्ध होते हैं। इन दोनों के पचने का समय भी अलग अलग होता है जिससे हमारा पेट confuse हो जाता है। इन दोनों को साथ में खाने पर इसने मिलने वाले पोषक तत्व हमे नहीं मिलते और पेट भरी होने और पेट फूलने की समस्या हो सकती है। कई लोग सलाद का सेवन खाने के बाद करते हैं जो बिलकुल गलत है। सलाद ठंडा होने की वजह से भोजन के साथ या पहले खाना चाहिए। भोजन के बाद सलाद खाने से खाना पचने की गति धीमी हो जाती है जिससे गैस और एसिडिटी हो सकती है।

सलाद में अगर गाजर खाना हो तो उसके साथ नीम्बू का सेवन न करें क्यूंकि इससे heartburn और urine यानी पेशाब से सम्भंदित समस्या ह सकती है। अगर आप मूली कहते हैं तो उसे खाने के बाद दूध या केले का सेवन का करें। दूध की तरह शहद भी ऐसी चीज़ है जो हमे किसी जीव से प्राप्त होती है। इसका सेवन घी, मूली और अंगूर जैसी चीज़ों के साथ न करें और इसे ऐसी चीज़ों में कभी मिक्स न करें जिन्हे पकाया जा रहा हो या गरम किया जा रहा हो। शहद पकने के बाद हमारी सेहत के लिए हानिकारक हो जाता है।

कहा जाता है की शाकाहारी लोगों के मुकाबले मसहरी लोगों के शरीर में ज़्यादा बीमारियां होती हैं लेकिन केवल मॉस आदि का सेवन करने से बीमारियां उत्पन्न नहीं होती। जब इसे गलत समय पर या गलत चीज़ों के साथ खा लिया जाये तो ही इससे बीमारियां हटी हैं। मछली, अंडा और मास आदि के साथ दूध, दही, cheese, अंकुरित आहार, आलू तथा स्टार्च वाली चीज़ें बिलकुल नहीं खानी चाहिए और किसी भी तरह के मास को कभी टिल के तेल में नहीं पकाना चाहिए। लॉग नॉन वेजीटेरियन फ़ूड के साथ आलू तथा मैदे से बानी चीज़ें खाना पसंद करते हैं। खाने में चाहे इनका स्वाद अच्छा लगता हो लेकिन साथ में मिला देने से ये हमारे शरीर के लिए हानिकारक होते हैं क्यूंकि आलू और मैदे के अंदर स्टार्च की मात्रा अधिक होती है। स्टार्च को पचने के लिए हमारे शरीर को alkalotic की ज़रूरत होती है और वहीँ मास को पचने के लिए acidic की ज़रूरत होती है। दोनों को साथ खाने से इसमें मौजूद प्रोटीन हमे नहीं मिल पाता और मोटापा, गैस तथा शुगर और cholestrol की मात्रा उमरे शरीर में दुगनी हो जाती है। यह डायबिटीज और दिल से सम्भंदित बिमारियों को जन्म देती है।

भोजन के साथ ठंडी गरम चीज़ें सेवन न करें

जब भी भोजन करें तो भोजन के साथ ठंडी चीज़ें जैसे कोल्ड ड्रिंक, आइस क्रीम या बहुत गरम चीज़ें जैसे चाय या कॉफ़ी का सेवन बिलकुल न करें। ऐसा करने से भोजन के पोषक तत्व तो ख़तम होते ही हैं और साथ ही खाना भी ठीक से नहीं पच पाता। कभी चाय या कॉफ़ी जैसी गरम तासीर वाली चीज़ों के साथ ठंडा पानी, खट्टे और पानी वाले फलों का सेवन बिलकुल न करें। इससे गले का इन्फेक्शन और सर्दी खांसी जैसी चीज़ें हो सकती हैं।
तो यह कुछ चीज़ें हैं जिनका सेवन साथ में बिलकुल नहीं करना चाहिए क्यूंकि ये हमारे शरीर को नुक्सान पहुंचती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *