महात्मा गाँधी के बाद उनके परिवार का क्या हाल हुआ ?

महात्मा गाँधी जी का पूरा नाम मोहन दास कारन चंद गाँधी है | उनके कई उपनाम है जैसे बापू ,. संत और राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी | उनका जन्म 2 अक्टूबर ,1869 को पोरबंदर गुजरात में हुआ था |उनके जन्म दिन पर राष्ट्रीय अवकाश होता है | उनकी भारतीय मुद्रा पर फोटो लगी हुई है | हर एक सरकारी कार्यालय में उनकी फोटो लगी हुई है | भारतीय स्व्तंत्रता

संग्राम में अहिंसक और शान्तिप्रिय आन्दोलनकारी के रूप में जाने जाते है | आजादी से पहले गाँधी जी को और जवाहर नेहरू जी को साथ देखा जा सकता था | गाँधी जी को नेहरू ज़ी बहुत पसंद थे | इसमें कोई शक नहीं था कि उनको देश का पहला प्रधानमंत्री बनाने में गाँधी जी का हाथ था |अगर गाँधी जी नेहरू जी के साथ नहीं खड़े होते तो शायद सरदार
वल्लभ भाई पटेल को पहला प्रधान मंत्ररी माना जाता | जहाँ नेहरू जी का परिवार राजनीति में सक्रिय है वहीँ गाँधी जी के परिवार का आम इंसान तो क्या इतिहासकारों को भी नहीं पता | बचपन से ही गाँधी जी के बारे में बच्चों को बताया जाता है | उनकी जीवनी रटाई जाती है | दे दी हमें आजादी बिना खड़क बिना ढाल , साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल |

यह गाना भी हिन्दुस्तानियों की ज़ुबान पर सुना जा सकता है | लेकिन नाम गम जायेगा , पर चेहरा यह नज़र आएगा की कहावत बापू पर चरितार्थ होती है | बस फरक इतना है यह नाम गाँधी जयंती पर और चेहरा नोट को कभी कभार ध्यान से देखने पर दिख जाता है |आज उनके परिवार के सदस्य जीवत भी है या नहीं | उनके परिवार की कितनी पीढ़ियां आज
मौजूद है , वेह क्या कर रही है , कितने सदस्य है जैसे तमाम सवाल है जिनका जवाब शायद ही किसी के पास हो |

इंटरनेट की एक वेबसाइट की माने तोह बापू के बेटे उनके पोते और उनके आगे के वंशज 6 देशों में निवास कर रहे है | जिनकी कुल सदस्यों की संख्या 136 है | आपको यह सुन कर हैरानी होगी की

इनमे 12. चिकित्सक , 12 प्रवक्ता , 4 वकील 3 पत्रकार 2 आईएएस , 1 साइंटिस्ट 5 इंजीनियर 1 चार्टेड अकाउंटेंट , 5 निजी कम्पनीज में उच्च पद अधिकारी और 4 p.h.d धारी है |इनमे ध्यान देने वाली बात यह है की मुजूदा सदस्यों में लड़कियों की संख्या लड़कों की तुलना में ज्यादा है | आज उनके परिवार के 136 सदस्यों में कुल 120 सदस्य जीवित है |

जिसमे से कुछ भारत के अलावा अमेरिका , साउथ अफ्रीका में बसे हुए है , और कुछ ऑस्ट्रेलिया , कनाडा और इंग्लैंड में रहते है | लेकिन महात्मा गाँधी के परिवार का कोई सदस्य राजनीती में सक्रिय नहीं है , शायद यही कारन है की किसी को आज महात्मा गाँधी जी के परिवार के बारे में किसी की कोई जानकारी नहीं है | इसी कारण से किसी को कुछ नहीं पता असल में उनके परिवार में कितने सदस्य है और क्या कर रहे है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *