ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

यहाँ हम कुछ ऐसी तस्वीरे देखेंगे जो जिन्दगी की सच्चाई को बयां करेंगी कुछ तस्वीरें तो बड़ी ही हास्यप्रद हैं तो चलिए देखते हैं इन तस्वीरों को:

 

differences between present and past 5 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

१९९० में जो इयरफ़ोन होते थे वो काफी छोटे साइज़ के होते थे और वह सबकी पसंद भी थी लेकिन अब ज़माने के साथ इयरफ़ोन ने भी अपना साइज़ बदल लिया|  अब जिस प्रकार के इयरफ़ोन बाज़ार में पसंद किये जा रहे  हैं उनका साइज़ इतना बड़ा होता कि इन्सान का पूरा चेहरा उसमे दबा नज़र आये|

differences between present and past 3 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

आज कल का वीमेन फैशन भी बड़ा अजीब है, कपड़ों का साइज़ कम पर कम होता जा रहा है| और इन कम कपड़ो को फैशन का नाम दे दिया है| १९९१ के समय पर टेलीविज़न पर होने वाले अश्लील कार्यक्रमों के अंतर्गत जो लड़कियां होती थी उनके कपडे भी आज के फैशन के कपड़ो से ज्यादा होते थे|

differences between present and past 8 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

इस तस्वीर में आप साफ़ देख सकते है और अनुमान लगा सकते हैं कि अब तो टॉयलेट में भी इन्सान मोबाइल फ़ोन या टेबलेट लेकर जाता था जब की पुराने समय में मोबाइल की जगह किताबें हुआ करती थी|

differences between present and past 6 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

लड़कियों को छेड़ने में भी लोगो ने आधुनिक  रुख को अपना लिया है पहले लड़कियों को सड़कों पर पीछा करके या कुछ शब्दों के सहारे छेदा जाता था, और अब सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर सन्देश या फिर कमेंट का सहारा लिया जा रहा है|

differences between present and past 21 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

 

 

differences between present and past 13 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

जैसे बच्चों को डॉक्टर के पास जाने से डर लगता है कि कही डॉक्टर उनको इंजेक्शन न लगा दे वैसे व्यस्क को डॉक्टर के इंजेक्शन से ज्यादा डॉक्टर के बिल का डर लगा रहता है|

differences between present and past 9 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

पहले बचपन में जब जन्मदिन मनाया जाता था तो लोगो के आने पर ख़ुशी होती थी कि कितने सारे लोग आये हैं और इस आधुनिक युग में यह देखा जाता है कि सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर कितने जन्मदिन की बधाई के कितने नोटीफिकेसन आये हैं|

differences between present and past 12 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

१९५६ के समय IBM ५ मेगाबाइट को संरक्षित करने के लिए $१२०,००० की राशी लेती थी और संरक्षित इकाई बहुत बड़ी हुआ करती थी, और आज के युग में एक छोटी सी चिप के अन्दर ६५५३६ मेगाबाइट मात्र $६० में उपलब्ध है|
differences between present and past 2 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

पहले के समय में वैज्ञानिकों के पास बहुत से इसे साधन  होते थे जो उनको अनुसन्धान में मदद करे परन्तु अब के साधन भी ऑनलाइन हो गए हैं|

differences between present and past 16 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

 

differences between present and past 18 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

१९६१ में जब बच्चों के परीक्षा में नंबर कम आते थे तो बच्चों से माता-पिता पूछते थे की नंबर कम क्यों आये हैं और अब शिक्षक से पूछा जाता है कि बच्चों के नंबर कम क्यों आये हैं|

differences between present and past 7 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

टच स्क्रीन फ़ोन को अगर जमीन पर तेज़ी से फेका जाये तो उसकी स्क्रीन टूट जाती है वही नोकिया कीपैड वाले साधारण फ़ोन की मजबूती  इतनी थी कि अगर उसको जमीन पर फेक दिया जाये तो भी उस फ़ोन को कुछ नहीं होगा!

differences between present and past 10 ये तस्वीरे जिंदगी की सचाई बया करती है

१९९० के टेलीविज़न बड़े और मोटे होते थे और इन्सान दुल्बा-पतला, वहीँ २०११ से टेलीविज़न पतले हो गए हैं और इन्सान मोटा| ऐसा कहना कुछगलत नहीं होगा कि टेलीविज़न उसकी सेहत के प्रति ज्यादा जागरूक हो गया और इन्सान अपनी सेहत को लेकर लापरवाह|

 

“यह सब अन्धुनिक युग का कमाल है चीज़ों के साथ लोगो की सोच में भी गजब का परिवर्तन आया है, कुछ परिवर्तन तो बड़ा ही घातक है जैसा की अपने इन पिक्चर में देखा!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *